सरायकेला – खरसावां : बीरबांस स्थित डायन रिहाइबलेशन सेंटर की संचालिका और पद्मश्री सम्मान के लिए नामित छुटनी महतो को जिला परिषद उपाध्यक्ष सह आजसू नेता माझी साव ने देख लेने की दी धमकी

सरायकेला – खरसावां : बीरबांस स्थित डायन रिहाइबलेशन सेंटर की संचालिका और पद्मश्री सम्मान के लिए नामित छुटनी महतो को जिला परिषद उपाध्यक्ष सह आजसू नेता माझी साव ने देख लेने की दी धमकी। बता दें, कि रविवार को तिरुलडीह थाना क्षेत्र अंतर्गत कुदा गांव की दुर्गा महतो को उसके ही गांव के टिंकर मुंडा नामक व्यक्ति ने ओझा बनकर डायन करार दिया था जिसके बाद ग्रामीणों के इशारे पर खेमा मुंडा, टिंकर मुंडा, सीता मुंडा, चंदना मुंडा आदि ने दुर्गा महतो की बुरी तरह पिटाई की थी। जिससे दुर्गा महतो बुरी तरह जख्मी होकर बेहोश हो गई थी। जिसे जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां से दुर्गा की हालत की गंभीरता को देखते हुए रिम्स रेफर कर दिया गया था जहां उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। इधर मामले की जानकारी मिलते ही पद्मश्री छुटनी महतो पीड़िता की बहन शेफाली महतो की शिकायत पर तिरूल्डीह थाना पहुंची और थाना प्रभारी से मामले की गंभीरता को देखते हुए शिकायत दर्ज करने की बात कही। पहले तो थाना प्रभारी ने टालमटोल किया, लेकिन बाद में थाना प्रभारी ने मामला दर्ज कर लिया। इधर मामले की जानकारी मिलते ही जिला परिषद उपाध्यक्ष माझी साव ने पद्मश्री छुटनी महतो को फोन पर केस उठा लेने की धमकी दी और कहा, कि “ग्रामीण स्तर का मामला है इसे ग्रामीण स्तर पर ही सुलझाया जाएगा” जिस पर छुटनी आग बबूला हो उठी उन्होंने पूरे मामले की शिकायत जिले के एसपी से किए जाने की बात कही। एक तरफ केंद्र और राज्य सरकार डायन प्रथा को लेकर कई जागरूकता कार्यक्रम चला रही है, दूसरी तरफ सरकार के ही जिला परिषद उपाध्यक्ष ऐसे मामले में मध्यस्थता करने और ग्रामीण स्तर पर बातचीत कर दोषियों को दंडित करने की बात कर रहे है। निश्चित तौर पर ऐसे ही लोगों के कारण यह कुरीति समाज से समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा। फिलहाल छुटनी महतो इस पूरे प्रकरण में आरोपियों कि जल्द से जल्द गिरफ्तार करने और पीड़ित महिला को इंसाफ दिलाए जाने की मांग करती नजर आ रही है साथ ही माझी साव पर भी एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी में जुट गई है।

कुकरू से विद्युत महतो की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!