बुजुर्गो ने अपनी पत्नी का इलाज कराने रिक्शा पर लेकर पहुंचे एमजीएम

जमशेदपुर :- एमजीएम अस्पताल में उस वक्त अद्भुत नजारा देखने को मिला जब एक बुजुर्ग ठेला चालक ने अपने बीमार पत्नी को ठेले पर बैठाकर इलाज के लिए एमजीएम लेकर अस्पताल पहुँचे। वहीं उन्होंने पैसा नहीं होने का हवाला देते हुए कहा हमारे पास पैसा नही है और किस से मदद मागते हम खुद रिक्सा चलाते है इस लिये 10 किलोमीटर पत्नी को रिक्सा में लेकर अस्पताल पहुचे है।

उन्होंने कहा 2 महीना पूर्व घर मे पत्नी का पैर टूट गया था। अस्पताल में दिखाने के बाद पलास्टर को काटना था इस लिये हम अपने रिक्सा को ही एम्बुलेंस बना कर पत्नी को उसमे लिटा कर लेकर पहुंचे। बताया जाता है कि इस बुजुर्ग का नाम गणेश है और वह ठेला चलाकर ही अपने और अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं । पूछने पर बुजुर्ग पति गणेश ने कहा आर्थिक रूप से ये इतने सक्षम नही है कि अपने पत्नी को ऑटो में लेकर अस्पताल पहुँच सके। पत्नी का पावं दो माह पहले टुटा था और तब से लगातार इन्हें अस्पताल ठेले पर ही लेकर पहुँचते हैं।

वहीं उन्होंने कहा वह किसी से मदद लेना नही चाहते और वे इतने सक्षम नही है कि वो अपने पत्नी को ऑटो का भाड़ा देकर अस्पताल ला सके। दृश्य वाकई ही बड़ा मर्महाक था। जहां एक बुजुर्ग बेबस होकर भी अपने हौसले को नही हारता है। और जीवन मे संघर्ष करते हुए आगे बढ़ता है ।वही पीड़ित पत्नी आरती ने कहा हमारे पास कोई साधन नही है इस लिय हमारे पति ने हमको रिक्सा में सरकारी अस्पताल लाया है,हम किस से मदद नही माग पाते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!