Jamshedpur : केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति की कार्यकारणी ने राम बाबू सिंह को समिति से छः साल के लिए किया निष्कासित, समिति के दिशा निर्देशों का अवहेलना करने का लगा आरोप

Chamakta Bharat : केन्द्रीय दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष चन्द्र नाथ बनर्जी ने एक प्रेस रिलीज जारी करते हुए बताया कि राम बाबू सिंह एवं उनके समर्थकों के द्वारा किए जा रहे कार्य के वज़ह से जमशेदपुर के लगभग सभी दुर्गा पूजा समितियों एवं हिन्दूवादी कार्यकर्ताओं में समिति के प्रति काफी रोष है एवं समिति के मान समान को ठेस पहुंचा है. उन्होंने बताया विगत दिनों राम बाबू सिंह ने एक बैठक कर अपने समर्थकों को समिति का पदाधिकारी बना दिया था. उनके द्वारा किया गया बैठक एवं उस बैठक में लिए गए फ़ैसले समिति के नियमो के विरुद्ध था. उन्होंने बताया मेरे एवं समिति के सचिव अरूण सिंह के द्वारा लगातार रांची जाकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं मुख्य सचिव सुखदेव सिंह से मुलाकत कर झारखंड मे बंद सभी धार्मिक स्थलो को खोलने एंव विशेष कर दुर्गा पूजा के लिए दिशानिर्देश जारी करने का आग्रह किया जा रहा था एवं जारी दिशानिर्देशो मे संसोधन के साथ-साथ जो मूर्तियां बन चुकी हैं उन मूर्तियों पर पूजा करने की अनुमति मिले ताकि दुर्गा पूजा समितियों एवं मूर्तिकारों पर आर्थिक बोझ ना पडे ऐसी कोशिश कि जा रही है.

वहीं दूसरी तरफ राम बाबू सिंह एवं उनके समर्थकों के द्वारा समिति एवं हिन्दू धर्म विरोधी गाइडलाइन का सुझाव जिला प्रशासन को दिया जा रहा था. जमशेदपुर दुर्गा पूजा केन्द्रीय समिति के अध्यक्ष चन्द्र नाथ बनर्जी के अध्यक्षता मे एक बैठक कर यह निर्णय लिया था कि दिनांक 28 सितम्बर को राम बाबू सिंह के द्वारा समिति के अध्यक्ष को बिना विश्वास मे लिए जो फैसले लिए गए उस फैसले को रद्द करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया था परन्तु राम बाबू सिंह ने उस नोटिस का कोई जबाब नही दिया. बल्कि अपने समर्थकों के साथ जमशेदपुर दुर्गा पूजा केन्द्रीय समिति के बैनर का दुरुपयोग करते हुए लगातार बैठक करते रहे और जमशेदपुर के दुर्गा पूजा समितियों को भ्रमित करने का काम करते हैं. जिसका खामियाजा समिति को भुगतना पड़ रहा है.

अंतत जमशेदपुर केन्द्रीय दुर्गा पूजा समिति की कार्यकारणी ने निर्णय लिया कि राम बाबू सिंह को समिति से छः वर्षो के लिए निष्कासित किया जाए. उन्होंने कहा कि केन्द्रीय दुर्गा पुुजा  समिति एक निबंधित संस्था है जिसका निबंधन संख्या-354/2017/2018 है. अगर कोई भी ग़ैर व्यक्ति या संस्था से निष्कासित सदस्य इस समिति का बैनर, लेटर पैड या इस समिति के नाम का दुरुपयोग करता है तो उस पर कानुनी करवाई की जाएगी.

error: Chamakta Bharat Content is protected !!