शहीद पुलिस कर्मीयो को मिला “सम्मान” शहर में कई कार्यक्रम आयोजित।

जमशेदपुर : महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षक झारखंड रांची के निर्देश के आलोक में नेशनल पुलिस फ्लैग डे दिनांक 21 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक मनाया जा रही है। जमशेदपुर जिला पुलिस में कुल 12 शहीद पुलिसकर्मियों के सम्मान में विभिन्न कार्यक्रम किए गए। इस अवसर पर जमशेदपुर पुलिस ऑफिस में शुक्रवार को सभी शहीदों के लिए दो मिनिट का मौन रखकर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। वही शहीद परिवार के हाथों से एसएसपी डॉक्टर एम तामिल वणन के उपस्थिति में अनावरण की गई।

डीएसपी द्वारा फोटो का अनावरण करते

नेशनल पुलिस फ्लैग डे के अवसर पर शहर में 21 अक्टूबर को पुलिस केंद्र जमशेदपुर में संस्मरण दिवस मैं शहीद पुलिसकर्मियों को याद किया गया। वही शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि समर्पित की गई तथा शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को सम्मानित किया गया। 18 अक्टूबर को पुलिस केंद्र जमशेदपुर में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया एवं शहीद पुलिसकर्मियों की पैतृक गांव के प्राथमिक विद्यालय में उनके फोटो का अनावरण किया गया। 23 अक्टूबर को उनके सम्मान में यूनिटी रन का आयोजन किया गया। 30 अक्टूबर शुक्रवार को शहीद दुखिया मुर्मू के नाम पर वरीय पुलिस अधीक्षक कार्यालय अवस्थित सभागार को शहीद दुखिया मुर्मू के नाम पर नाम करण एवं सभी 12 शहीद पुलिसकर्मियों की तस्वीर का अनावरण सभागार में किया गया। साथ ही शहीद दुखिया मुर्मू के परिवार को उनके किए गए वीरता पूर्ण कार्य के लिए सम्मानित किया गया।

इस संबंध में जानकारी देते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक डॉक्टर आम तमिल बंधन ने राज्य भर में शहीद हुए पुलिसकर्मियों की शहादत को नमन करते हुए बताया कि तमाम परेशानियों को झेलते हुए पुलिस दिन-रात आम लोगों की सेवा में लगी रहती है। इस दौरान कई बार पुलिसकर्मी को जान भी गंवानी पड़ती है। शहीद हुए पुलिस कर्मियो का सम्मान जरूरी है। ऐसे में राज्य पुलिस महानिदेशक एवं महा निरीक्षक द्वारा लिया गया फैसला काफी सराहनीय है। इससे शहीद पुलिसकर्मियों को सच्ची श्रद्धांजलि मिलेगी। वही शहीद दुखिया मुर्मू के परिजनों ने राज्य पुलिस के इस पहल का स्वागत किया। आपको बता दें कि दुखिया मुर्मू की हत्या नक्सलियों ने 21 जनवरी 2015 को कर दी थी। उस वक्त वे एसपी के अंगरक्षक हुआ करते थे। उस दौरान नक्सलियों ने एसपी को टारगेट बना कर रखा था। जिन्हें बचाने के क्रम में दुखिया मुर्मू के सर पर गोली लग गई थी और वह शहीद हो गए थे।

जानकारी देते वरीय पुलिस अधीक्षक डॉ एम तामिल वणन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!