Jamshedpur : को ऑपरेटिव लॉ कॉलेज में नामांकन को लेकर हो रहे फीस वृद्धि के खिलाफ छात्र हुए आक्रोशित, प्राचार्य कक्ष के बाहर प्रिंसीपल को घेरा, पुलिस के हस्तक्षेप के बाद छात्र हुए शांत

Chamakta Bharat : को ऑपरेटिव लॉ कॉलेज में नामांकन शुल्क कम किये जाने की मांग को लेकर बुधवार को छात्र संगठनों ने प्रदर्शन किया. प्रदर्शन में शामिल विद्यार्थियो ने बताया कि विगत 2 वर्ष पूर्व नामांकन शुल्क पांच हज़ार रुपया सालाना थी, लेकिन उसे बढ़ाकर 2019 में 25 हज़ार करने का प्रस्ताव कॉलेज द्वारा विश्वविद्यालय को भेजा गया था ओर आखिर में बढ़े हुए फीस पर कैबिनेट के बैठक में मुहर लगा दिया गया ओर उस समय से विद्यार्थियों को पांच हज़ार की जगह 20 हज़ार रुपया सालाना फीस देना पड़ रहा है. कई बार पत्राचार करने के बाद भी फीस बृद्धि को वापस नही लिया गया. वही उन्होंने कहा कि कोल्हान विश्वविद्यालय के कुलपति द्वारा बताया गया कि कॉलेज के प्राचार्य का कहना है की फीस कम किये तो कॉलेज बन्द हो जाएगा, उनके ही पैसा से शिक्षकों को वेतन और स्टाफ को वेतन दिया जाता है और प्राचार्य ने कुलपति को झूठ तक बोल दिया कि यह वोकेशनल कॉलेज है. जबकि पता चला कि यह प्रोफेशनल कॉलेज है. यह वाक्या जैसे ही विद्यार्थियों को पता चला. वैसे ही सभी बुधवार की सुबह कॉलेज के प्रिंसिपल से मिलने पहुंचे ओर कहा कि प्रिंसिपल द्वारा छात्र हित मे कार्य नही किया जाता है. विद्यार्थियों ने लिखित तौर पर फीस कम करने को लेकर दो दिन पहले प्राचार्य से मुलाकात कर समर्थन मांगा था परन्तु दो दिनों के बाद भी लिखित समर्थन नही मिला. यूनिवर्सिटी को गलत सूचना दिया जाता है और इसी कारण फीस कम नही हो रहा है. जिसके बाद प्राचार्य द्वारा अस्वाशन मिला कि 2 दिनों में यूनिवर्सिटी और कॉलेज के प्रिंसिपल और छात्र एक साथ बैठक करेंगे और तब जाकर सच्चाई सामने आएगा और फीस कम करने के इस मुद्दे पर हल निकलेगा.

error: Chamakta Bharat Content is protected !!