प्रखंड मुख्यालय में प्रखंड कर्मियों एवं अंचल कर्मियों द्वारा संविधान दिवस के अवसर पर संविधान की प्रस्तावना को पढ़ते हुए संविधान शपथ लिया गया

प्रखंड मुख्यालय में प्रखंड कर्मियों एवं अंचल कर्मियों द्वारा संविधान दिवस के अवसर पर संविधान की प्रस्तावना को पढ़ते हुए संविधान शपथ लिया गया ।इस अवसर पर उपस्थित अंचलाधिकारी श्री रिंकू कुमार द्वारा इस दिन को विशेष दिन बताते हुए कहा गया कि- आजाद भारत के इतिहास में 26 नवंबर का दिन काफी महत्वपूर्ण है। यही वह दिन है, जब गुलामी की जंजीरों से आजाद होकर अपने आजाद अस्तित्व को आकार देने का प्रयास कर रहे राष्ट्र ने संविधान को अंगीकार किया था।
अंचल अधिकारी ने कहा कि आज के दिन को संविधान दिवस के रूप में मनाने का मुख्य उद्देश्य देश के युवाओं एवं भावी पीढ़ी के बीच में संविधान के मूल्यों को बढ़ावा देना है। इसी दिन संविधान सभा ने इसे अपनी स्वीकृति दी थी, इस वजह से इस दिन को ‘संविधान दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि भारत में दो साल 11 महीने और 18 दिन की लंबी मेहनत के बाद संविधान तैयार किया गया था। भारतीय संविधान देश के सभी नागरिकों को हर क्षेत्र में समानता का अधिकार देता है।
यहां यह जान लेना भी जरूरी है कि भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है। संविधान सभा के प्रमुख सदस्यों में जवाहरलाल नेहरू, डॉ भीमराव अंबेडकर, डॉ राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि थे ।
इस अवसर पर प्रखंड कृषि पदाधिकारी श्री पतित पावन घोष, सहायक अभियंता संतोष कुमार, कनीय अभियंता शशि शेखर ठाकुर, प्रखंड सांख्यिकी पर्यवेक्षक दिलीप कुमार बारिक, प्रखंड कल्याण पर्यवेक्षक बबलू कुमार सोरेन सहित अन्य प्रखंड कर्मी गण एवं अंचल कर्मी गण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!