जमशेदपुर के टाटा आर्चरी मैदान में टोकियो ओलम्पिक की चयन ट्रायल चल रहा, ट्रायल देखने पहुंचे अर्जुन मुण्डा ने भी टारगेट पर तीर चलाया

जमशेदपुर के टाटा आर्चरी मैदान में टोकियो ओलम्पिक की चयन ट्रायल चल रहा है और आज केन्द्रीय मंत्री अर्जुन मुण्डा जो भारतीय तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष भी है, ट्रायल देखने पहुंचे और खुद भी अपने को तीर चलाने से रोक नहीं सके और टारगेट पर तीर चलाया ।

जमशेदपुर स्थित जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में टोक्यो ओलंपिक्स में चुने जाने की लिए देश भर से खिलाड़ियों का ट्रायल लिया जा रहा है । आर्चरी ट्रायल का पहले राउंड जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में चल रहा है, वहीं दूसरे और तीसरे राउंड का ट्रायल पुणे में लिया जायेगा । धर्मेंद्र तिवारी, टाटा आर्चरी एकेडमी के हेड कोच ने बताया कि 8 खिलाड़ियों को कैम्प में भर्ती कर लिया गया है और यहा से जो लोग चुने जाएंगे उन्हें भी उसी कैम्प में भेज दिए जायेगा । उन्होंने बताया कि 40 लड़के और 18 लड़कियो ने पार्टिसिपेट किया था जिसमे से 4 चुने जाएंगे, झारखंड से जयंत, अंकिता और दीपिका पहले ही कैम्प में चुने जा चुके है ।

धर्मेंद्र तिवारी, टाटा आर्चरी एकेडमी, हेड कोच
अर्जुन मुंडा

जमशेदपुर में केन्द्रीय मंत्री सह भारतीय तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष अर्जुन मुंडा भी आर्चरी मैदान ट्रायल देखने पहुंच गए और खुद भी निशाना साधा है कहा हम हार नहीं मानेगे लछ्य को भेदना ही हमारा काम है , अर्जुन मुंडा ने कहा की हम आने वाले दिनों में केन्द्र और राज्य मिलकर एक नया सुरवात करेगे जिसका नाम होगा टैलंट हंट इसमे होगा गांव के अस्तर से प्रतिभा को खोजना और निखारना हम जब तक इस खेल को गांव से नहीं जोड़ेगे तब तक प्रतिभा सामने नहीं आ सकती हैं हम सेना, रेलवे और कई प्राइवेट और सरकारी संस्था को कहा है की आप एक प्लान ग्रामीण इलाको कस्बो के लिए बनाए ताकि हम अच्छी प्रतिभा को सामने ला सके , अब तक ओलम्पिक में आर्चरी कुछ खाश कर नहीं पाया है लिम्बा राम से लेकर दीपिका कुमारी तक ओलम्पिक में पदक जीत नहीं पाए, इस पर कहा हम हताश नहीं है और इस बार हम टोकयो में जरूर पदक जीतेगे ।

अर्जुन मुंडा

अर्जुन मुंडा ने कहा की हम आने वाले दिनों में केन्द्र और राज्य मिलकर एक नया सुरवात करेगे जिसका नाम होगा टैलंट हंट इसमे गांव के अस्तर से प्रतिभा को खोजना और निखारना है, जब तक हम इस खेल को गांव से नहीं जोड़ेगे तब तक प्रतिभा सामने नहीं आ सकती हैं । हमने सेना, रेलवे और कई प्राइवेट और सरकारी संस्था को कहा है की आप एक प्लान ग्रामीण इलाको कस्बो के लिए बनाए ताकि हम अच्छी प्रतिभा को सामने ला सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!