जमशेदपुर : आज अनुमंडल पदाधिकारी धालभूम को ऑल इंडिया कान्वाई चालकों द्वारा ऑल इंडिया कान्वाई वर्कर्स यूनियन के नाम पर टाटा मोटर्स टीटीसीए द्वारा झारखंड सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा अवैध किए गए एवं कई गलत कार्यों में लिप्त यूनियन चलाने के संबंध में ज्ञापन सौंपा गया

जमशेदपुर : आज अनुमंडल पदाधिकारी धालभूम को ऑल इंडिया कान्वाई चालकों द्वारा ऑल इंडिया कान्वाई वर्कर्स यूनियन के नाम पर टाटा मोटर्स टीटीसीए द्वारा झारखंड सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा अवैध किए गए एवं कई गलत कार्यों में लिप्त यूनियन चलाने के संबंध में ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने बताया कि कान्वाई चालकों के नाम निबंधित ऑल इंडिया कान्वाई वर्कर्स यूनियन 1970 बिहार सरकार द्वारा निबंधित किया गया था जिसके गलत कार्यों को देखते एवं कान्वाई चालकों के भारी विरोध के कारण 2007 में रद्द कर दिया गया था एवं जिला प्रशासन द्वारा कार्यवाही कर कार्यालय को सील कर दिया था जो आज भी सील है परंतु कान्वाई बुकिंग यार्ड कमिंस गेट में नया कार्यालय खोल ऑल इंडिया कान्वाई वर्कर्स यूनियन सिटी सीए के संचालक महेश शरण द्वारा चलता रहा साथी यूनियन के नाम पर जिला प्रशासन को कान्वाई चालकों के कई महत्वपूर्ण विषय पर भ्रमित करवाया गया एग्रीमेंट के नाम पर करवाई चालकों की मजदूरी मात्र ₹310 2018 से दी जा रही है कोई भत्ता कोई ओवरटाइम का भुगतान नहीं किया जाता, ड्राइवर मर गए हैं उनके स्थान पर उनके बेटे को नहीं लिया जाता, चालकों के मेडिकल बिल के भुगतान नहीं किया जा रहा जैसे कई महत्वपूर्ण गलत कार्यों को यूनियन के नाम पर किया गया जिसके विरोध में कान्वाई चालक झारखंड सरकार के पास अपनी बात रखी। दिनांक 11 जनवरी 2021 झारखंड सरकार ने यूनियन को पूर्ण रूप से अवैध करार दिया परंतु यूनियन का संचालन जारी है इसके विरोध में कान्वाई चालकों के बीच भारी आक्रोश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!