सरायकेला जिले में जंगली हिरण का कटा सिर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद वन विभाग में मचा खलबली, ग्राम प्रधान संग दो अन्य सहीत 50 ग्रामीणो पर मामला दर्ज

सरायकेला जिले में जंगली हिरण का कटा सिर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद वन विभाग में मचा खलबली। ग्राम प्रधान संग दो अन्य सहीत 50 ग्रामीणो पर मामला दर्ज किया गया ।

जंगल से भटक कर गांव में पहुंचे खूबसूरत हिरण को ग्रामीणों ने कुत्ते की सहायता से पकड़कर हिरण का सेन्दारा कर मांस को सामूहिक भोज में मिलाया । ग्राम प्रधान के बागान में काट, गांव में हिरण का मांस वितरण कर सामूहिक पार्टी आयोजित कर साक्ष्य मिटाने के लिये भरपूर प्रयास किया गया ।
वही मांसाहार के शौकीन हुए सरायकेला प्रखंड के कांदागोड़ा गांव के ग्रामीणों ने बीते रविवार के दिन सारी हदें पार कर गए। वन क्षेत्र से भटक कर गांव के खेतों में पहुंचे हीरण को शिकार बनाया । यह मामला सोशल मीडिया के खुलासे से हुआ । सरायकेला वन विभाग सहित सरायकेला पुलिस अनुसंधान के बाद माइक्रो बिंदुओं का ट्रेस करते हुए वन विभाग द्वारा मामले का खुलासा किया गया। जिसमें सरायकेला वन क्षेत्र पदाधिकारी प्रमोद कुमार के नेतृत्व में फॉरेस्ट इन चार्ज सुनील कुमार महतो, शुभम पंडा, देवेंद्र नाथ टुडू, सीता सोरेन एवं प्रकाश नायक द्वारा मामले का खुलासा करते हुए स्थानीय ग्राम प्रधान पंडित हेंब्रम और उसके द्वारा चिन्हित किए गए ग्रामीण साधु चरण पूर्ति एवं बोरजो पूर्ति के खिलाफ मामला दर्ज कराते हुए कांड में शामिल अन्य 50 ग्रामीणों की ट्रेसिंग की जा रही है।

प्रमोद कुमार, सरायकेला वन अधिकारी

मामले के संबंध में अप्रत्यक्ष रूप से ही सही बताया जा रहा है कि आकर्षिनी के निचले वन क्षेत्र से भटक कर एक बड़ा हिरण कांदागोड़ा ग्राम क्षेत्र में रविवार की सुबह 6:00 बजे पहुंचा। जहां ग्रामीणों द्वारा देखे जाने के बाद उक्त हिरण को पकड़ने के लिए काफी देर तक दौड़ाया गया। इसके बाद गांव की आवारा कुत्तों की सहायता लेते हुए हिरण को पकड़ा गया। हिरण के पकड़े जाने के बाद ग्राम प्रधान पंडित हेंब्रम के बागान स्थित बेर के पेड़ से बांधकर उसे काटा गया। जिसके बाद हिरण के मांस को घटना में शामिल लोगों के घर-घर तक पहुंचाने के बाद बागान में ही पकाकर सामूहिक भोज भी किया गया। हिरण को मारने के लिए प्रयुक्त किए गए बेर के पेड़ को जड़ से काटते हुए समीप के झाड़ियों में फेंक दिया गया था। साथ ही जिस स्थान पर हिरण को काटा गया था, उस स्थान को पानी से धोने के बाद मांस के टुकड़ों को खाने के लिए सूअरों को बांधकर रखा गया था।

सोशल मीडिया पर वायरल हुए फोटो के बाद अलर्ट हुआ वन विभाग:- घटना को लेकर पेड़ से टंगे हिरण के कटे सिर की तस्वीर सोशल मीडिया के फेसबुक पर वायरल होने के बाद मामला सभी के चर्चा में आया। हालांकि कुछ देर के बाद उक्त तस्वीर को हटा लिया गया। परंतु वन विभाग सूचना के साथ ही घटना को लेकर अलर्ट मोड में आ गया।

सरायकेला वन क्षेत्र पदाधिकारी अपनी टीम के साथ गांव के घटनास्थल पर पहुंचे। जहां से थोड़ी ही दूरी पर घटना में प्रयुक्त काटे गए बेर के पेड़ की तना को झाड़ियों से बरामद किया। इसी के साथ ही जमीन के मालिक ग्राम प्रधान से पूछताछ के क्रम में हिरण के मांस के टुकड़े भी बरामद किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!