Jamshedpur : पश्चिम बंगाल में दोषी पुलिसकर्मी पर एक्शन हो वरना सिख समुदाय खामोश नहीं रहेगा : रविंदर सिंह ‘रिंकू’

Chamakta Bharat : पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा 8 अक्टूबर को सिख सिक्युरिटी गार्ड बलविंदर सिंह के साथ की गई बर्बरता पर बीर खालसा दल के अध्यक्ष रविंदर सिंह ‘रिंकू’ ने पश्चिम बंगाल सरकार एवं प्रशासन के विरुद्ध अपनी नाराज़गी जताते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में 8 अक्टूबर को भाजपा द्वारा राजनीतिक हत्या के विरुद्ध में निकाली गई रैली में पश्चिम बंगाल प्रशासन द्वारा की गई बर्बरता और सिख सिक्युरिटी गॉर्ड बलविंदर सिंह के साथ कि गयी क्रूरता बंगाल की दयनीय स्थिति और ममता सरकार की करतूतों को बताने के लिए काफी है.

उन्होंने कहा कि जिस तरह से बलविंदर सिंह की पगड़ी को अपमानित करते हुए उन्हें केश से पकड़ कर घसीटा गया और मारा गया तथा उन्हें जेल में डाल दिया गया ये पश्चिम बंगाल सरकार एवं प्रशासन की तानाशाही, असंवैधानिक हरकतों और समाज में धार्मिक आघात करने का जीता जागता सबूत है, जिससे सिख समुदाय में काफी आक्रोश है. रविंदर सिंह ने बताया कि बलविंदर सिंह वहाँ एक नेता के सिक्युरिटी गार्ड के तौर पर तैनात था न कि किसी विरोधी या भाजपा कार्यकर्ता के तौर पर. यदि ममता बनर्जी की सरकार दोषी पुलिस कर्मी पर यदि कोई एक्शन नहीं लेगी तो सिख समुदाय खामोश नहीं बैठेगा. बीर खालसा दल धार्मिक आघात के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 295 ए के तहत कानूनी कार्यवाही भी करेगी.

error: Chamakta Bharat Content is protected !!