सरकार लैंडपुल विधेयक के वापस लें अन्यथा संयुक्त ग्रामसभा करेगा आन्दोलन

चाण्डिल : सराइकेला खरसावाँ के चांडिल प्रखंड में डोबो के समुदाय भवन में संयुक्त ग्राम सभा की बैठक शंकर सिंह की अध्यक्षता में हुआ। बैठक में जन संगठनों, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित हुए एवं बैठक का संचालन अनूप महतो ने किया।
झारखंड क्षेत्रीय विकास प्रधिकार संशोधन विधेयक 2021 बिल (लैंडफूल) पर विचार विमर्श किया गया। कुमार चन्द्र मार्डी ने कहा लैंडपूल लागू होने से ग्राम सभा, आदिवासियों के भाषा संस्कृति रीति रिवाज, सीएनटी एसपीटी एक्ट, पेसा कानून, पेसा एक्ट, पांचवी अनुसूची में असर पड़ेगा।सरकार लैंडपूल के माध्यम से पुँजीपतियों के लिए ग्रामीण क्षेत्र में जमीन खरीदने का रास्ता खोल दिया बैठक में कोई प्रस्ताव भी पारित किया गया।जन विरोधी बिल “झारखंड क्षेत्रीय विकास प्रधिकार (संशोधन) विधेयक, 2021” बिल को खारिज करते हुए रेगुलेशन पास करेगी एवं संबंधित पदाधिकारी,जिलाधिकारी, राजपाल, राष्ट्रपति, मुख्यमंत्री, स्थानीय विधायक को ज्ञापन सौंपेंगी।
सभी ग्राम सभाओं में प्रधान के नेतृत्व में यह जन विरोधी बिल का विरोध करते हुए बिल को जलाया जाएगा।ज्ञापन सौंपने के 10 दिन के बाद भी अगर राज्य सरकार इस जन विरोधी बिल को वापस नहीं लेती है तो राज्य सरकार के साथ-साथ स्थानीय विधायक का पुतला ग्राम प्रधानों के नेतृत्व में दहन किया जाएगा।
सामाजिक कार्यकर्ता सह संयुक्त ग्राम सभा मंच के संयोजक अनूप महतो ने बताया कि झारखंड सरकार का लैंडपूल विधेयक पूंजीपतियों के हित में बनाया गया है।जो झारखंड के आदिवासी मूलवासी समुदाय
का हक छीनेगा का षडयंत्र है। इस विधेयक के लागू होने से शहरों का विस्तार होगा जिससे सीएनटी एसपीटी एक्ट, पेसा कानून/पेसा एक्ट, पांचवी अनुसूची, आदिवासियों के भाषा संस्कृति रीति-रिवाजों पर प्रहार होगा। पांचवीं अनुसूचित क्षेत्र में जमीन संबंधित मामलों पर राज्य सरकार को निर्णय लेने का कोई अधिकार नहीं है। अनूप महतो ने बताया कि झारखंड सरकार के इस विधेयक के खिलाफ सभी झारखंड वासी एकजुट होकर आंदोलन करेंगे।
गांव गणराज परिषद के कुमार चंद्र मार्डी ने कहा कि पेसा एक्ट बने 25 साल हो गए हैं किंतु पेसा का रेगुलेशन नहीं बना है। पहले रेगुलेशन को बनाइए राज्य सरकार और जनविरोधी काला बिल लैंडपूल विधेयक को वापस ले। अन्यथा झारखंड मुलवासी एकजुट होकर आंदोलन करेगी।
मौके पर झारखंड आंदोलनकारी लम्बु किस्कु, गांव गणराज्य परिषद के कुमार चंद्र मार्डी जयपाल सिंह सरदार अनूप महतो रविंद्रनाथ सिंह दुलाल सिंह कर्मु चंद्र मार्डी मानिक सिंह हेमंत महतो सुखदेव माझी भोला सिंह मुंडा परशुराम माझी कलीराम माझी अजीत सिंह, बोडो माझी आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।उपस्थित थे।
रिपोर्ट/फणीभूषण टुडू चाण्डिल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!