सरकार के गाइडलाइन पर राज्य से बाहर यात्री सेवा शुरू,यात्रिओ में खुशी।

जमशेदपुर :-  कोरोना महामारी को लेकर पूरे देश  लंबे समय से परेशान है। अभी तक इसका कोई दवा नही है। हालांकि लंबे समय के बाद झारखंड में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की दिशा में राज्य सरकार ने प्रयास तेज कर दिए हैं। लॉकडाउन के बाद अनलॉक की लंबी अवधि में अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए राज्य सरकार लगातार कोशिश कर रही है। इधर शुक्रवार से राज्य भर के यात्री वाहनों के साथ सभी तरह के व्यवसायिक वाहनों में क्षमता के आधार पर यात्री बैठाने की अनुमति राज्य सरकार ने दे दी है। लेकिन यात्रियों से बढ़े हुए किराए लेने पर राज्य सरकार ने रोक लगा दी है। वही राज्य सरकार के निदेश पर कोविड-19 के तहत जारी दिशा-निर्देशों को मानना अनिवार्य होगा। नए नियम के अनुसार व्यवसायिक वाहनों एवं यात्री बसों में सीट के अनुसार यात्री बैठ सकते हैं, लेकिन उन्हें मास्क पहनना अनिवार्य होगा। इसके अलावा सभी यात्री बसों में यात्रियों के चढ़ने और उतरने के लिए अलग-अलग गेट होना अनिवार्य है। इधर सरकार के फैसले के बाद लगभग 8 महीनों से बंद पड़े यात्री बसों के मालिक अपनी गाड़ियों को दुरुस्त कराने में जुट गए हैं।

संभावना जताई जा रही है, कि रविवार से सामान्य रूप से यात्री बसों का परिचालन शुरू हो सकेगा है। हालांकि लगभग 7 महीनों से बंद गाड़िया जर्जर हो चुकी है। जिसको लेकर बस मालिकों को फिर से बस पटरी में लाने के लिए काफी खर्च आ रही है। जिसको  लेकर सभी मालिक चिंतित है। वही एक सीट पर एक ही आदमी बैठाने से किराए में बढ़ोतरी नहीं होने पर बसों के मालिको में नाराजगी है। उनका कहना है, कि इतने दिनों में हुए नुकसान की भरपाई आखिर कौन करेगा। हालांकि सरकार की ओर से इसको लेकर सख्त हिदायत दिया गया है। वही बसों के मालिकों का कहना है कि छठ के बाद इस पर विचार किया जाएगा फिलहाल पुराने किराए में ही यात्रियों को सीट उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं सरकार के इस फैसले के बाद राज्य के बाहर बिहार बंगाल उड़ीसा के यात्रियों के चेहरों पर खुशी झलकते देखी जा रही है। वही छठ में बिहार जाने वाले यात्रियों में उत्साह देखने को मिला। हालांकि कोविड-19 के तहत दिए गए दिशा निर्देशों का पालन अवश्य करना चाहिए। उधर ओला, उबर, कैब को भी दूसरे राज्य जाने का छूट दी गई लेकिन किराया से ज्यादा नही वसूल सकते। फिलहाल कोरोना काल मे लंबे समय के बाद परिचालन शुरू होने पर यात्रिओ में खुशी झलकते देखी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!