Jamshedpur : क़ायदे अहलेसुन्नत हज़रत अल्लामा अरशद उल कादरी का 19वा वार्षिक उर्स ए पाक का आयोजन

Chamakta Bharat : क़ायदे अहलेसुन्नत हज़रत अल्लामा अरशद उल कादरी का 19 वें वार्षिक उर्स ए पाक का आयोजन किया गया. कोविड 19 के महाकाल के पेशेनज़र उर्स-ए-पाक पूरी तरह वर्चुअल वेबिनार और काव्य नातिया गोष्ठी, सलातो सलाम, फ़ातिहा ख़्वानी एवं क़ायदे अहलेसुन्नत द्वारा रचियत कलाम और उनके जीवन पर प्रकाश डाला गया. इस वर्चुअल कार्यक्रम में मुख्य रूप से अमेरिका में निवास कर रहे मदरसा फैजुल उलूम के डायरेक्टर डॉ. ग़ुलाम ज़रकनी, मुसलिम फ्रंट के मरकज़ी सदर व मद्दाहे ग़ौसुलवरा हाजी हिदायतुल्लाह खान, बिहार विधानसभा परिषद सदस्य सह पूर्व सांसद मौलाना ग़ुलाम रसूल बलयावी, पेशे इमाम व राष्ट्रीय ख्याति अर्जित हज़रत मौलाना काज़ी मुश्ताक़ अहमद, शोहरत याफ़्ता कवि जनाब दिलकश रांचवी, आयोजन में महती भूमिका निभने वाले जनाब अबरार कैंसर सहित देश-दुनिया के मशहूर कवि और शिक्षा विदों ने अपने अपने यहां से वर्चुअल वेबिनार एवं काव्य पाठ में भाग लिया. मुख्य रूप से अल्हाज मुबराक हुसैन, शमीम फैज़ी, हबीब अल्लाह फ़ैज़ी ने प्रतिभागियों के रूप में अपनी रचनाओं और विचारों को व्यक्त किया. अंत मे महफ़िल ए सलात व सलाम एवं दुआ से वर्चुअल कार्यक्रम के पहले चरण की समाप्ति हुई. कार्यक्रम में कोविड-19 के सरकारी दिशा निर्देशों का अति दृढ़ता से पालन किया गया. विदित हो कि वर्चुअल वेबिनार और नातिया गोष्ठी में क़ायदे अहलेसुन्नत और मरहूम इंयातुलल्लह खान द्वारा रचयित नात व मनकबत को हाजी हिदायतुल्लाह खान ने पढ़ी, जबकि वेबिनार में पार्षद सह पूर्व सांसद ग़ुलाम रसूल बलयावी ने विचार व्यक्त किये और उर्स पाक में अपनी व्यवहारिक हाज़री पेश की,मुख्य अतिथि के रूप में डॉ ग़ुलाम ज़रकनी ने अमेरिका से पूरे कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।वर्चुअल कार्यक्रम में सलात व सलाम का नज़राना पेश किया गया. विदित हो कि कार्यक्रम को सफ़स्ल बनाने में ग़ुलाम शेरानी, हाजी मोख्तार अहमद,मो मेराज फ़ैज़ी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Chamakta Bharat Content is protected !!